कैथेड्रल (महागरीज़ घर) कुंकुरी

कैथेड्रल (महागरीज़ घर) कुंकुरी

यह कैथेड्रल एशिया में दूसरी रैंक है। यहां तक कि किसी भी चर्च समिति को भी नहीं बल्कि हमारे संशोधन के द्वारा रैंक नहीं किया जाता है। इसमें विरोधी क्रिस्टैन समूहों द्वारा एशिया में दूसरा स्थान दिया गया है। इसीलिए सर्वशक्तिमान देव ने उनको और इसे ऊपर डाल दिया अपने धर्मों के प्यार, दया और सच्चाई के दृष्टिकोण से दूसरे स्थान दिया गया । यह 1962 में स्वर्गीय रेव बिशप स्टानिस्लास टिग्गा की अवधि में स्थापित किया गया था । जे.एम. कार्सी ने अपना नक्शा डाला। यूसुफ टोप्पो ने इस्टोनस द्वारा अपना कंसट्रक्शन शुरू किया। उनकी मौत के बाद फादरमनस्तन एसजे ने दिवंगत रेव बिशप फ्रांसिस एकका की अवधि में अपना कंसट्रक्शन पूरा कर लिया। इसका उद्घाटन 27 अक्टूबर 1 9 7 9 को हुआ था। इस चर्च की एक आर्च के आकार में सात आर्केड हैं और सात लोहे के कोण से बने संस्कारों के प्रतीक एक खूबसूरत तीर्थ, इस कैथेड्रल बाउन्टिंग का अन्वेषण भी माता से विवाह करने से पहले प्रार्थना करने के लिए आगंतुक को आमंत्रित कर रहा है (माता की दया)। सभी धर्मविद लोग इस चर्च और मंदिर की यात्रा के लिए हर रोज यहां आते हैं .उन्हें सभी भगवान यीशु और माताओं के प्रसन्न होने से पहले प्रसन्न हैं और उनकी मुसीबतों से छुटकारा प्राप्त करते है |